कोचिंग इंस्टिट्यूट(Coaching institute) से हो सकती है अच्छी कमाई , जाने इसकी पूरी जानकारी

कोचिंग का काम किसी भी स्तर से शुरू किया जा सकता है , यह आप पर निर्भर करता है की आप इसे एक प्राइवेट ट्यूटर की तरह शुरू करना चाहते है या एक प्रोफेशनल कोचिंग इंस्टिट्यूट खोलना चाहते है। जहाँ एक प्राइवेट ट्यूटर अपना काम बिना किसी लागत के शुरू कर सकता है वहीँ एक बड़े इंस्टिट्यूट के लिए अच्छी खासी रकम की जरुरत पड़ती है

कोचिंग इंस्टिट्यूट आज के एजुकेशन सिस्टम का एक अहम हिस्सा बन चुके है ,पिछले पांच वर्षों में कोचिंग इंस्टिट्यूट की डिमांड 35 % तक बढ़ी है।

हाई स्कूल के स्तर के बच्चे भी अब लगभग सभी सब्जेक्ट्स के लिए कोचिंग इंस्टिट्यूट का सहारा लेने लगे है।

प्राइवेट ट्यूशन के लिए क्या करें :

जैसा कि पहले भी कहा है यदि आप एक प्राइवेट ट्यूटर के रूप में काम करना चाहते है तो आपको कुछ बातों का ध्यान रखना होगा

1 . आप किस लेवल के बच्चों को पढ़ाना चाहते है।
2 . आप जिस विषय में एक्सपर्ट है , आप उसी विषय को पढ़ाइये।
3. आप ट्यूशन अपने घर से देना चाहते है आप आप स्टूडेंट को उसके घर जाकर पढ़ाना चाहते है।
4 . अपनी मार्केटिंग आप खुद ही कर सकते है , जिसमे आपके सोशल सर्किल के लोग आपके काम आते है।
5 . इस प्रकार की सर्विस देने के लिए आपको किसी भी रजिस्ट्रेशन की आवश्यकता नहीं है। ( बशर्ते आपकी सालाना ट्यूशन फी 19 लाख से कम हो )

कोचिंग इंस्टिट्यूट खोलने के लिए जरुरी कदम

मार्किट का अध्यन

वैसे तो कोचिंग इंस्टिट्यूट का बिज़नेस एक सुपरहिट व्यवसाय है , पर फिर भी एक मार्किट सर्वे करना बहुत जरुरी है , हालाँकि एक बेहतर शिक्षा के स्तर के लिए लोग अलग से कोचिंग का सहारा लेते है , और सबसे बड़ी बात यह आजकल एक ट्रेंड भी बन चूका है। पर फिर भी काम शुरू करने से पहले कुछ चीज़ें ध्यान में रखने।

सबसे पहले आपको मार्किट की डिमांड को देखना है की मार्किट में आखिर किस तरह की कोचिंग की डिमांड है।
आप अपने स्टूडेंट्स को ऐसा क्या दे सकते है जो उन्हें आपके और आकर्षित करे।
आपके पास अपने इंस्टिट्यूट के लिए एक्सपर्ट टीचर कहाँ से उपलब्ध करवाने है।
आपने इंस्टिट्यूट की लोकेशन कैसी है अगर वह ऐसी जगह है जहा पर रेसिडेंशियल और कमर्शियल दोनों एरिया पास में है तो वो सुपरहिट है।
क्या आपके क्षेत्र में स्टूडेंट इतनी संख्या में उपलब्ध है कि आपको नुक्सान न उठाना पड़े?

पूंजी की आवश्यकता

कोचिंग एक सेवा क्षेत्र से जुड़ा व्यवसाय है तो इसके लिए फिक्स्ड कैपिटल की बहुत अधिक आवश्यकता नहीं है , और यह आप पर भी निर्भर करता है की आप
किस तरह का इंस्टिट्यूट खोलना चाहते है। जैसे आप कई सारे विषयों को पढ़ाना चाहते है तो आपको कई क्लास रूम की जरुरत होगी तो आपको किसी बड़ी जगह का चुनाव करना पड़ेगा। और उसमे आप किस तरह के उपकरण इस्तेमाल करते है इस बात पर भी आपका इन्वेस्टमेंट निर्भर करता है।

जैसे आप शिक्षा की आधुनिक तकनीक जैसे स्मार्ट क्लास का उपयोग करना चाहते है या नहीं
आपके क्लास रूम में किस प्रकार की सुविधाएँ है जैसे रूम ए सी है या नॉन ए सी
आपका इंटीरियर किस प्रकार का है
आप अपने इंस्टिट्यूट का प्रचार किस प्रकार से करना चाहते है।

ऐसे काफी सारे विषय है जिन पर आपका इन्वेस्टमेंट निर्भर करेगा , यह लागत आप चाहे तो 2 से 3 लाख भी हो सकती है और आप चाहे तो यह 10 से 20 लाख भी हो सकती है।

कोचिंग सेंटर के लिए वैधानिक जरूरते

अगर आपका कोचिंग सेंटर छोटे स्तर पर है और उसकी सकल आय ( Gross Income ) 19 लाख से कम है तो आपको जी एस टी नहीं लगेगा।
आपको अपने सेंटर को शॉप एंड इस्टैब्लिशमेंट एक्ट के अंतर्गत रजिस्टर करना होगा
अगर आपका यह इंस्टिट्यूट पार्टनरशिप है तो पार्टनरशिप डीड बना लेना जरुरी है
और अगर आप बड़े स्तर पर काम कर रहे है और प्राइवेट लिमिटेड फर्म बना रहे है तो आपको अपना कम्पनी रजिस्ट्रेशन अनिवार्य है।

कुछ ध्यान देने योग्य विशेष बातें :

आपके पास प्रत्येक विषय के प्रशिक्षित टीचर होने चाहिए। ऐसे टीचर का चुनाव करें जो आपके लिए एक से अधिक विषयों को पढ़ा सकें और कुछ स्टूडेंट्स को भी आकर्षित कर सकें।


Comments

comments

loading...

- Apply This Job

Your Name (required)

Your Email (required)

Upload Resume (3mb max)

Your Message