जाली चेक : आत्मविश्वाश की ऐसी कहानी जो आपके रोंगटे खड़े कर देगी

हम जिन्दगी में क्या बनेंगे यह सब हमारे नजरिये पर निर्भर करता है . नजरिया  कितना कमाल कर सकता  है, इस बात को समझाने के लिए आज हम आपके लिए एक कहानी ले कर आये है.

एक बार एक बिज़नेस मैन बहुत उदास सा एक पार्क की बेंच पर बैठा था. उस व्यक्ति का पूरा बिज़नेस ठप्प होने की कगार पर था. बिज़नेस को बढ़ाने के लिए लिया गया लोन उसके सिर पर था. सप्लायर और लोन देने वाले सभी को अपना पैसा वापस चाहिए था.बिज़नेस से आउट पुट  ठीक आ नहीं रहा था. बहुत उलझन में मुंह लटकाए वो व्यक्ति सभी को उदास नज़र आ रहा था.

अचानक उस व्यक्ति के सामने एक बुढा व्यक्ति आकर खड़ा हो गया और बोला,

“तुम बहुत परेशान दिखाई दे रहे हो, बात क्या है ?”

उस परेशान बिज़नेस मैन ने सहानभूति भरे शब्द सुनकर अपनी सारी कहानी उस बूढ़े व्यक्ति को सुना दी.

ये सुनकर बूढ़े व्यक्ति ने कहा, “मेरा यकीन करों, में तुम्हारी मदद कर सकता हूँ |” इतना कह कर बूढ़े व्यक्ति ने बिज़नेस मैन से उसका नाम पूछा, एक चेक पर कुछ लिखा और चेक को उस बिज़नेस मैन के हाथ पर रख दिया.

फिर बूढ़े व्यक्ति ने  कहा, “ ये लो पैसे.आज से ठीक  एक साल बाद मुझे इसी जगह पर मिलना. और मेरे पैसे वापस कर देना.” इतना कहने के बाद जितनी तेजी से वो बुढा  व्यक्ति आया था उतनी तेजी से वापस भी चला गया.

बिज़नेस मैन ने देखा कि उसके हाथ में 500,000 डॉलर का चेक है, उसके आश्चर्य की सीमा ही नहीं रही जब उसने देखा कि उस चेक पर उस समय के सबसे अमीर व्यक्ति Warren Buffet के signature हैं.

अब वह व्यक्ति खुश था कि उसके पास इतने पैसे थे जिससे वो अपने कर्ज को  उतार सकता था , पर उसे एक विचार आया जब एक अनजान व्यक्ति उसपर इतना विश्वाश करके उसे इतनी बड़ी राशी दे सकता है तो उसे खुद पर भरोसा करना चाहिए , और उसने निर्णय लिया की वो पहले अपने आप ही पूरी कोशिश करेगा इन पैसों को उतारने की और अगर फिर भी उसकी बात नहीं बनी तो वो इस चेक को इस्तेमाल करेगा

उस चेक को देखकर बिज़नेस मैन बहुत confident हो गया. अब उसके पास अच्छी खासी रकम थी. जिससे उसकी सारे चिंता पल भर में दूर हो गयी.

उस बिज़नेस मैन ने चेक को अपने locker में  रखा. और पुरे जोश के साथ अपने बिज़नेस को बचाने में लग गया. उसने सप्लायर से और अधिक समय लिया. अपनी फैक्ट्री और टीम प्रोडक्टिविटी  बढ़ायी और अपना बिज़नेस फिर से पहले से भी बेहतर खड़ा कर दिया.और थोड़े ही समय में वो  व्यक्ति कर्जो से मुक्त हो गया और उसके पास अच्छी  खासी रकम भी जमा हो गयी .

अब वो बिज़नेस मैन एक साल पूरे होने का बेसब्री से इन्तजार करने लगा. वो चाहता था कि उस बूढ़े Warren Buffet को चेक वापस करके धन्यवाद बोले और अपनी सफलता की कहानी भी सुनाये.

आखिर वो दिन आ ही गया. बिज़नेस मैन उस पार्क में पहुंचा. वहां Warren Buffet पहले से ही था. इससे पहले बिज़नेस मैन Warren Buffet से कुछ कह पाता वहां एक नर्स भागते हुए आयी. उस बूढ़े व्यक्ति को पकड़ कर बोली , “ भगवान् का शुक्र है, मैंने  इसे पकड़ लिया.”

बिज़नेस मैन की तरफ देखते हुए नर्स ने पूछा, “ कहीं ये आपको परेशान तो नहीं कर रहे थे, ये मानसिक रूप से अस्वस्थ है. बार बार मेंटल हॉस्पिटल से भाग जाते है और खुद को Warren Buffet कह कर लोगों को चेक बांटते रहते है .”

ये कहकर वो नर्स तो उस बूढ़े व्यक्ति को अपने साथ ले गयी. लेकिन वो बिज़नेस मैन ठगा सा वहीँ खड़ा रहा. अब उसे समझ आ चूका था की उसके पास जो चेक था वो जाली था और उस चेक के बदले उसे कोई पैसे नहीं मिलने वाले थे

पिछले एक वर्ष से वह  सिर्फ इसी वजह से लोगों से मुश्किल डील भी आसानी से इसलिए कर रहा था क्यूंकि उसके पास उस बूढ़े का sign किया हुआ  500,000 डॉलर का चेक था. उसे विश्वाश था की उसके पास पैसे है .

इतना सब होने पर भी उस व्यक्ति ने उस बूढ़े व्यक्ति को मन ही मन धन्यवाद किया और सोचा शायद भगवन ही उस व्यक्ति के रूप में आये और उसे सहारा दिया . उस 500,000 डॉलर के चेक ने उसे वो शक्ति वापिस लौटा दी जो वो खो चुका  था .

इस कहानी से हमें यह सीख मिलती है की जब आपकी भावना सच्ची होती है तो ईश्वर भी आपकी सहायता किसी न किसी रूप में करते है , उस व्यक्ति को नहीं पता था की वो अपने जीवन में फिर से खड़ा हो सकता है , पर उस बुजर्ग ने उसे वो चेक देकर उसकी उस सोयी शक्ति को फिर से जगा दिया .

 

 

 


Comments

comments

loading...

- Apply This Job

Your Name (required)

Your Email (required)

Upload Resume (3mb max)

Your Message