अपनी खराब आदतों के बावजूद कैसे बचाए रखे अपनी Job

जैसा कि हमने पिछले आर्टिकल में आपको बताया कि किसी भी व्यक्ति के लिए job से निकला जाना उसके करियर, फाइनेंस और सेल्फ कॉन्फिडेंस पर बहुत असर डालता है और अगर आप भी ऐसे किसे सिचुएशन में है जैसे कि हमने पिछले आर्टिकल में मेंशन की थी तो हमारे कुछ suggestions है आपके लिए |

1.       देर से ऑफिस  आना : ऑफिस समय से पहुँचने वाले व्यक्ति अपनी job के लिए दूसरों की अपेक्षा अधिक sincere  होते है , ऐसा मान जाता है , इसलिए ऑफिस टाइम से पहुंचना हर employee से obvious expectation  में आता है | आप अगर समय से ऑफिस नहीं पहुँच पा  रहे है और इसके पीछे का रीज़न सिर्फ और सिर्फ आपकी लेट लतीफी की पुरानीं आदत है तो ये आदत तो आपको बदलनी ही होगी लेकिन अगर आपके देर से आने का कोई लॉजिकल रीज़न है जैसे कैब pick up लेट होना या कोई और तो तुरंत ही ये रीज़न अपने बॉस को बता दें और ये आप्शन भी दे दें कि आप ऑफिस hours के बाद काम कर सकते है | 

2.       टीम के साथ एडजस्ट न हो पाना : जैसा कि फैक्ट है , प्रत्येक व्यक्ति की अपनी नेचर होती है , कुछ व्यक्ति introvert होते है और कुछ extrovert | जब बात टीम effort की होती है तो उसमें हर व्यक्ति के योगदान की आवश्यता है और best  रिजल्ट  तभी आता है जब टीम के सभी सदस्य का आपस में ताल मेल बेहतर हो , लेकिन अगर आप बाकी टीम मेम्बेर्स के साथ मिक्स नहीं हो पा रहे है तो अपनी बात अपने TL या बॉस  को बताएं और इसके साथ ही अपनी कोशिश भी जारी रखें| अपने टीम मेम्बेर्स के whatsapp ग्रुप में एक्टिव रहें और जब भी मौका मिले अपने टीम के साथ Hang Out करें | धीरे धीरे आप अपनी टीम के सभी मेम्बेर्स के साथ comfortable  हो जायेंगे |

Image source

3.       ऑफिस में job सर्च : ऑफिस में बैठकर job सर्च करना तो Big NO है | ऐसा कभी न करने की सोचें और अगर बहुत ही urgency है तो लैपटॉप या डेस्कटॉप की जगह फ़ोन पर job पोर्टल पर लॉग इन करें |

4.       ऑफिस रोमांस : किसी भी कंपनी में joining के बाद इंडक्शन होता है जहाँ कंपनी के सभी रूल्स बताएं जाते है | अगर आपकी कंपनी में भी सहकर्मी से रोमांटिक रिश्ते होने पर व्यक्ति को job से निकला जा सकता है और फिर भी आप ऑफिस में अपने सहकर्मी के विषय में ऐसा कुछ सोच रहे है तो आपका प्यार तो सच में अँधा है | अगर आपके ऑफिस में ट्रायंगल जैसी सिचुएशन बन रही है तो maturity से काम करें और बाकी के दो लोगों के साथ बैठकर सारे confusion दूर कर लें |

 

इस विषय में विस्तृत आर्टिकल यहाँ पढ़े |

5.       टारगेट मिस : अगर आपकी डेडलाइन आपसे  मीट नहीं हो पा रही और आपके टारगेट आप अचीव नहीं कर पा रहे ,तो आपके बॉस का आपके लिए नेगेटिव होना स्वाभाविक है | ऐसे में आपको जो भी चैलेंज फेस करने पड़ रहे है जिनके कारण आप up to the mark परफॉर्म नहीं कर पा रहे है, उनका डिस्कशन अपने बॉस या TL से जरुर करें व उन्हें sure करें कि आप अपनी responsibility समझते है और next टाइम आप टारगेट अचीव करेंगे | और हाँ सिर्फ बोले ही  नहीं ऐसा करके भी दिखाएँ |

6.        सहकर्मी से लड़ाई : अब जब हम job करने लगे है यानी कमाने लगे है तभी भी अगर हम एक चीज नहीं सीख पायें तो हमारे लिए सक्सेस पाना  टेढ़ी खीर हो जाएगा और वो है दुसरो के लिए acceptance |  यदि सामने वाला हमारे विचारों से सहमत नहीं है तो इसका मतलब ये नहीं कि वो गलत है या हम गलत है  इसका आशय ये है की एक चीज को देखने के आपके पास दो व्यक्तियों के  दो नजरिये है | किसी से बहस में पड़ने से अच्छा है आप शांन्ति से चीजें निपटा लें |  सामने वाले को रेस्पेक्ट दें , देर सवेर उसे भी अपने अन्दर बदलाव दिखेगा |

 


Comments

comments

loading...

- Apply This Job

Your Name (required)

Your Email (required)

Upload Resume (3mb max)

Your Message