क्या करें अगर आपकी मौजूदा कंपनी आपके रिजाइन के वक़्त आपको रोकने के लिए काउंटर ऑफर(Counter offer) दे।

अगर अपने अपनी मौजूदा कंपनी में रिजाइन कर दिया है और एच आर विभाग ने आपको बुलाया है। और कंपनी ने आपके रिजाइन स्वीकार करने के बजाय आपको एक आकर्षक ऑफर (Counter offer) पेश कर दे। जो की काफी आकर्षक है जिसे ठुकराना किसी के लिए भी आसान न हो तो आपको ऐसे स्थिति में क्या करना चाहिए।

क्या इस प्रकार का ऑफर आपको स्वीकार करना चाहिए ?

अध्यन बताते है इस प्रकार के काउंटर ऑफर मिडिल और टॉप मैनेजमेंट के लोगों को दिए जाते है जिनकी आयु 30 से 45 वर्ष के बीच होती है। और अक्सर कंपनी अपने एम्प्लॉय को रोकने के लिए काउंटर ऑफर का सहारा ले लेती है। पर सर्वेक्षणों के अनुसार लोग इस तरह के ऑफर्स में ज्यादा विश्वास नहीं करते ,क्योंकि लोग बताते है कि अक्सर कंपनी काउंटर ऑफर के दौरान किये गए वादे को पूरा नहीं करती।

और जिन लोगो ने काउंटर ऑफर को स्वीकार करके रुकने का निर्णय किया उन लोगो में से अधिकांश का यह मानना है की वो उसी डेसिग्नेशन पर काम कर रहे है और उन्हें जो प्रमोशन का वादा किया गया वो पूरा नहीं हुआ , आधे से ज्यादा ये मानते है की उन्हें काउंटर ऑफर में जो सैलरी बढ़ा कर देने की बात कही गयी उसमें भी गड़बड़ी हुई , या तो उन्हें जो बढ़ोतरी मिली वो परफॉरमेंस बोनस के नाम पर मिली या मिली ही नही या फिर जो कहा गया था उससे कम मिली।
और जब उन्होंने इस विषय पर अपने बॉस से शिकायत की तो उन्होंने भी इसे अपने बस से बाहर की बात बता कर अपना पल्ला झाड़ लिया।

और जब कम्पनी अपना वादा पूरा नहीं करती तो लोगो के लिए ये मानसिक तनाव का विषय बन जाता है , और कंपनी बेशक उन्हें रोकती है , पर वो उन एम्प्लोए पर अब उतना भरोसा नहीं करती , क्योंकि उनका अनुभव यह रहता है की ये फिर जॉब छोड़ कर जा सकता है।
काउंटर ऑफर में गए वादे पुरे क्यों नहीं हो पाते ?

  • कंपनी अक्सर महत्वपूर्ण जिम्मेदारी निभाने वाले या विशेष प्रतिभा वाले कर्मचारियों को खोना नहीं चाहती , इसलिए उन्हें रोकने के लिए दबाव में मैनेजमेंट अक्सर कुछ ऐसे वादे करते है जो उनके लिए निभा पाना मुश्किल हो जाते है ,
  • क्योंकि अगर एक व्यक्ति को ज्यादा सैलरी दे दी जाती है तो दूसरे समकक्ष कर्मचारी भी सामान वेतन की मांग करेंगे।
  • अगर काउंटर ऑफर के चलते एक व्यक्ति को कुछ बड़ी जिम्मेदारियां दी जाती है तो दूसरे समकक्ष कर्मचारियों में असंतोष आ सकता है।
  • काउंटर ऑफर में अगर किसी को फायदा हुआ है तो दूसरे लोग भी इसी परंपरा को निभाने लगते है और वेतन में अधिक बढ़ोतरी के लिए रिजाइन का सहारा लेने लगते है।

ऐसी स्थिति में आपको क्या करना चाहिए :

अगर आप को काउंटर ऑफर दिया जा रहा है , तो आपको देखना चाहिए की क्या वह विश्वाश करने के लायक है या नहीं। और आपके आगे बढ़ने के चांस कितने है। अगर आपको लगे की आप को दिया गया ऑफर स्पष्ट नहीं है तो आपको मैनेजमेंट से बात करनी चाहिए और संतुष्ट होनें पर ही ऑफर स्वीकार करें

पुराने माहोल दोस्तों को छोड़ना दुःख भरा होता है पर जिंदगी चलते रहने का नाम है , आप जब किसी नए एम्प्लायर का ऑफर स्वीकार करते हो तो , आप पर अपनी वचनबद्धता को साबित करने का दबाव होता है। अगर आपको लगता है आपको दिया गया ऑफर आपकी सब जरूरतों को पूरा कर रहा है तो आपको अपनी वचन बद्धता को सिद्ध करते हुए अपने फैसले पर अटल रहना चाहिए।

किसी भी प्रकार के फैसले पर पहुँचने से पहले अच्छे से सोचे की आपने जब नए एम्प्लायर का ऑफर स्वीकार किया तो आप जॉब में चेंज चाहते थे। अगर आपको दिया गया ऑफर आपके मन मुताबिक नहीं है तो स्वीकार मत कीजिये। पर स्वीकार किया है तो अपने वचन को निभाए। ऐसा न करने से आपकी मार्किट में साख भी गिरती है।

हमारी सलाह यह है की आप अगली बार काउंटर ऑफर स्वीकारने से पहले अच्छे से हर पहलु पर विचार कीजिये। और जब आप संतुष्ट हों तभी किसी प्रकार के निर्णय पर पहुंचे। क्योंकि आपसे बेहतर आपके लिए कोई भी फैसला नहीं ले सकता।

आशा है यह आर्टिकल आपको अगली बार ऐसी दुविधा की स्तिथि में सही निर्णय लेने में मददगार साबित होगा।


Comments

comments

loading...

- Apply This Job

Your Name (required)

Your Email (required)

Upload Resume (3mb max)

Your Message