Managerial Skills : कैसे ले अपनी टीम के ढीले लोगो से बेहतर परफोर्मेंस

किसी भी काम में अपनी टीम से बेहतर  परफॉरमेंस  लेने के लिए Managerial Skill का होना बहुत जरुरी है . आज के प्रतिस्पर्धा के युग में हर व्यक्ति पर काम का दबाव बढ़ता जा  रहा है ,सभी पर एक ही बात का प्रेशर है की कम समय में अधिक काम करे

एक धीमा वर्कर न केवल टीम की उत्पदान पर असर डालता है बल्कि वह पूरी की पूरी टीम का आत्मविश्वास भी कमजोर करता है।  जब पूरी टीम एकजुट होकर कोई असाध्य  लक्ष्य को हासिल करने की कोशिश कर रही होती है, तभी एक  कछुआ अपनी मंद गति से पूरी टीम के काम करने की लय को बिगाड़ देता है, जिसके परिणाम सवरूप लक्ष्य से चूक जाते है और पूरी टीम को डिमोटिवेट  कर देता है। अगर आप उस कछुए को डरा कर तेजी से काम कराने का प्रयास करेंगे तो ये कछुआ डर या प्रेशर में तेजी से काम  करता है तो डर की वजह से काम के बिगड़ने की सम्भावना अधिक रहती है।

आपके पास एक कर्मचारी है जो अपना काम 100% एक्यूरेसी के साथ करता है पर ये काम वो हमेशा तय समय सीमा के बाद करता है तो आप इस कर्मचारी को क्या कहेंगे ? यह कर्मचारी एक ही समय में तेज और धीमा दोनों ही है। पहले बात करते है की वह धीमा है क्योंकि वो काम को तय समय में पूरा नहीं कर पा  रहा इस वजह से आपका नुक्सान हो रहा है, वहीँ अगर आप देखो की वो अपना काम पूरी तरह ठीक कर रहा है और उस काम में कोई एरर नहीं है और न ही  उसके काम को किसी को चेक करने की आवश्यकता है और  आप  उस कर्मचारी के बारे में आश्वस्त है की उसके द्वारा किया गया काम पूरी तरह से ठीक है तो इस तरह से आपके द्वारा उसके काम को चेक करने  का  समय बच गया और आप वही समय किसी और काम में लगा सकते है।

किसी भी समस्या को दूर करने के लिए पहले उसके कारन का पता होना जरुरी है। आपको जानना होगा की वह कर्मचारी धीमा है क्यों? हो सकता है की वह Mr. perfectionist हो या वह किसी और प्रोजेक्ट में बिजी हो, या ये हो सकता की उसे जो काम करना है उसे टीम के बाकि सदस्यों से देरी से मिल रहा हो, या ये भी हो सकता है की उसे इस बात का पता ही न हो की वह स्लो है और आपने उसके लिए क्या लक्ष्य निर्धारित किये है?

how to handle slow worker

 

कैसे खोजे कर्मचारी के धीमे होने का कारण:

किसी भी समस्या के निवारण के लिए उसके कारण का पता होना बहुत जरुरी है . इसके लिए आपको समस्या की पूरी तह में जाना चाहिए और तभी किसी निष्कर्ष पर पहुंचना चाहिए . समस्या के कारणों का पता करने के लिए आप निम्न कदम उठा सकते है .

कर्मचारी से सीधे बात करना कई बार उसके मनोबल को और कमजोर कर सकता है , तो पहले उसे थोडा कॉन्फिडेंस में ले और सीधे काम की बात न पूछ कर उसे घुमा फिरा कर बात करें .

कई बार अन्य साथियों की कमजोरी की वजह से भी उसकी परफॉरमेंस कम हो सकती है तो  इन कारणों का पता लगाने  के लिए लोगो को बदल कर देखें शायद आपको कारण मिल जाये ?

एम्प्लोयी का स्किल लेवल चेक करें , और निश्चित करें की आपने जो काम उस कर्मचारी को दिया है वह उस काम के लिए उपयुक्त है की नहीं ?

उस कर्मचारी का मानसिक स्तर भी चेक करें की वह एक टीम प्लेयर है या नहीं ?

क्या आप जानते है Manager की जॉब के लिए पूछे जाने वाले इन बेहद पेचीदा सवालों के जवाब

कैसे करें समस्या का हल : 

जब हमे समस्या का सही कारण पता चल जाता है तो उसका निवारण का रास्ता भी उसी अनुसार हो जाता है

अब जब आपको समस्या का पता चल गया है तो इस वर्कर से निपटना भी आपको ही है, क्योकि उस व्यक्ति का चुनाव आपने ही किया है और आपने उसमे कोई खूबी तो देखि होगी, और वो भी इतना बुरा तो नहीं हो सकता, उसमे कोई तो बात होगी जिसकी वजह से वह दूसरे उम्मीदवारों को पीछे छोड़ कर आगे आया था।

आप उससे बात करके उसका आत्मविस्वास बढ़ाये और उसे उसके द्वारा प्राप्त की गयी उपलब्धियों की याद दिलाये। उसे उसके लक्ष्य के बारे में बताये , उसके द्वारा बताई गयी समस्या का हल निकाले । अगर उसको वह काम नहीं पसंद आ रहा है तो उसको किसी और प्रोजेक्ट में लगाकर उसके काम की समीक्षा करें।

किसी बड़े प्रोजेक्ट को छोटे छोटे हिस्सों में बाँट दें, इससे यह फायदा होगा की छोटी टीम होने से टालमटोल और एक दूसरे पर आरोप लगाने की सम्भावना कम हो जायेगी जिसके फलस्वरूप आउटपुट बढ़ेगा। रिसर्च भी ये साबित करते है की बड़ी टीम की तुलना में छोटी टीम एक काम को बेहतर तरीके से करती हैं और उस टीम के मेंबर भी आत्मविस्वास से लबरेज रहते है।

एक बार जब आपने इस समस्या का समाधान  कर दिया तो एक प्रभावी मैनेजर होने के नाते ये आपकी ड्यूटी बनती है की आप उस कछुए की चाल  में आये हुए परिवर्तन की समीक्षा करें और उसकी प्रशंसा करने में हिचकिचाहट न करें।  आपके इस कदम से आपके साथी कर्मचारियों पर भी इसका अच्छा प्रभाव पड़ेगा और वे भी अपना 100% देने को तत्पर रहेंगे।

 याद ररखने योग्य

क्या करें :

1  रूटीन में मीटिंग करते रहे , हो सकता है की आपको कुछ आश्चर्यजनक  पता चले जिस वजह से कोई कर्मचारी स्लो है।

2  लक्ष्यों और समय सीमा को निर्धारित करें  और स्पष्ट कारण की आप उनसे क्या चाहते है।

  1. वर्कर्स को ऐसे प्रोजेक्ट दे जिसे वे एन्जॉय करते हुए पूरा करें न की बोरियत महसूस करते हुए।

क्या न करें

1 धीमे एम्प्लोयी को बार बार दूसरे एम्प्लोयी का डाटा दिखा कर उसका आत्मविश्वास न गिराए।

2  धीमे एम्प्लोयी के काम की समीक्षा करना न भूले।


Comments

comments

loading...

- Apply This Job

Your Name (required)

Your Email (required)

Upload Resume (3mb max)

Your Message