कैसे लगाये पेपर प्लेट(Paper Plate) बनाने की फैक्ट्री

पेपर प्लेट (Paper Plate) का उपयोग पार्टी आदि समारोह में खाना सर्व करने में होता हैं. हाल के दिनों में पेपर प्लेट का प्रयोग अधिक होने लगा हैं. न केवल पार्टी में बल्कि पिकनिक आदि में भी पेपर प्लेट (Paper Plate )का काफी यूज़ होता हैं. इसका एक कारण इस प्रकार की प्लेट्स का durable होना हैं. पेपर प्लेट्स (Paper Plate) का वजन कम होने के कारण इन्हें आसानी से कहीं भी ले जाया जा सकता  हैं. इनका इस्तमाल करने के बाद इन्हें  dispose करना भी आसान हैं.

अपनी इन्ही खूबियों के कारण पेपर प्लेट की और अधिक उपभोक्ता आकर्षित हो रहे हैं. पेपर प्लेट की मांग अधिक बढ़ने के चलते कभी साधारण से रूप में आने वाली पेपर प्लेट आज कल अलग अलग साइजों व डिजाईन में मिलने लगी हैं. आजकल इस प्रकार की प्लेट्स (Paper Plate) का चलन इतना बढ़ गया हैं कि किसी भी पिकनिक या इन हाउस पार्टी की कल्पना आप ऐसी प्लेट्स के बिना कर ही नहीं सकते. पेपर प्लेट्स से पहले प्लास्टिक की प्लेट्स व कप अधिक प्रचलन में थे लेकिन पर्यावरण का ध्यान रखते हुए अधिकतर गवर्नमेंट प्लास्टिक से बनी  सभी प्रकार की प्लेट्स को बेन कर चुकी हैं या करने की तैयारी कर रही हैं. इसी के चलते पेपर प्लेट्स (Paper Plate ) की मांग बढ़ रही हैं.  मांग अधिक होने के कारण इस प्रकार की प्लेट्स की मैन्युफैक्चरिंग में काफी प्रॉफिट रहता हैं.

लेकिन किसी भी बिज़नस को शुरू करने से पहले उसके विषय में सब कुछ पता करना बहुत जरूरी हैं. अगर आप भी प्लेट्स मैन्युफैक्चरिंग बिज़नस (Paper Plate Manufacturing) का हिस्सा बनना चाह रहे हैं तो आपको इस बिज़नस से जुडी हर छोटी बड़ी बात का पता होना जरूरी हैं.

कैसे शुरू करें पेपर प्लेट्स मैन्युफैक्चरिंग बिज़नस

अगर आप पेपर प्लेट्स मैन्युफैक्चरिंग बिज़नस शुरू करने के इच्छुक हैं तो आपके पास सभी तरह के डाक्यूमेंट्स का होना बहुत जरूरी हैं. याद रखें कि वो ही बिज़नस मुनाफे में चलता है जिसे शुरू करने से पहले सभी तरह की प्लानिंग के साथ साथ कागजी कार्यवाही भी पूरी की गयी हो. इसके लिए आपके पास दो विकल्प हो सकते हैं. पहला आप खुद से सभी प्रकार का काम पूरा करें व दुसरा आप किसी प्रोफेशनल को hire कर लें. दुसरा आप्शन ज्यादा कामयाब रहता क्यूंकि किसी प्रोफेशनल को अपनी टीम का हिस्सा बनाने के बाद आप उसके अनुभव का पूरा फायदा उठा सकते हैं.

अपने उपभोक्ताओं का चुनाव कैसे करें

अक्सर हम सोचते हैं कि उपभोक्ता अपने काम आने वाली वस्तुओं का चुनाव करते हैं लेकिन वास्तविकता यह है कि उत्पाद निर्माता की भी एक टारगेट consumer होती हैं. जैसे अगर आपको टीवी पर मेगी का विज्ञापन देखने को मिले तो आप पाएंगे कि उनमें बच्चों को टारगेट किया हुआ हैं. ऐसे ही अपना उत्पाद बाज़ार में लेन से पहले ये सोच लें कि आपके उत्पाद के उपभोक्ता कौन हो सकते हैं. अगर आप चाहते हैं कि आपके द्वारा बनाई गयी पेपर प्लेट्स बच्चों को अपनी ओर अधिक आकर्षित करें तो आपको विभिन्न कार्टून कैरक्टर को को अपने उत्पाद पर प्रिंट करना होगा.

पेपर प्लेट्स (Paper Plate Manufacturing) के बिज़नस में आपके सबसे बड़े उपभोक्ता कैटरिंग का बिज़नस करने वाले होंगे. जिन्हें शादी व पार्टियों के अवसर पर hire किया जाता हैं व इनमे से कुछ ऐसे भी होंगे जो रोड साइड फ़ूड स्टाल लगाते हैं. साथ ही आपको ये भी देखना होगा कि आपके बिज़नस के लिए आपको अच्छी क्वालिटी का कच्चा माल कितनी दुरी से प्राप्त हो सकता हैं.

कैसे करें फैक्ट्री का सेट अप

चूँकि आप अपने माल के लिए फैक्ट्री का सेट अप करने जा रहे ना कि रिटेल स्टोर खोलने इसलिए फैक्ट्री की लोकेशन अधिक मायने नहीं रखती हैं. बेहतर ये होगा कि आप अपनी फैक्ट्री की लोकेशन ऐसी जगह रखें जहाँ आपको आसानी से कच्चा माल मिल जाये साथ ही लेबर की भी मांग भी आसानी से पूरी हो जाएँ.  शहर से कुछ दूरी पर फैक्ट्री का सेट लगाना बेहतर होता हैं क्यूंकि शहर में प्रॉपर्टी की दरें बाहरी इलाकों के मुकाबले अधिक होती हैं.

आपको फैक्ट्री की जगह चुनते समय इस बात का भी ध्यान रखना जरूरी कि फैक्ट्री की जगह शहर से कनेक्टेड हो. पेपर प्लेट्स की फैक्ट्री के लिए आपको केवल 500 स्क्वायर मीटर का कवर्ड एरिया चाहिए, साथ ही बिजली की सप्लाई भी होनी चाहिए. किसी भी प्रकार की बिजली की कटोती से बचने के लिए जनरेटर आदि की सुविधा होना भी आवश्यक हैं.

कितने इन्वेस्टमेंट से शुरू करें बिज़नस

किसी भी बिज़नस को शुरू करते समय सबसे अधिक दिक्कत तब आती हैं जब बिज़नस में निवेश प्लानिंग से अधिक बढ़ जाता हैं. इस्ल्ये इस विषय पर भी ठीक से  जाँच पड़ताल करना आवश्यक हैं. पेपर प्लेट मैन्युफैक्चरिंग बिज़नस को शुरू करने में आपकी शुरुआती लागत तकरीबन 10,00,000 INR आ सकती हैं. यह रकम हम सभी प्रकार की मशीनरी व पहले उत्पादन के लिए आवशयक कच्चे माल की रकम को जोड़कर बता रहे हैं. ये भी तय हैं कि 10,00,000 INR के इन्वेस्टमेंट के बाद आप प्रति वर्ष एक अच्छा खासा  मुनाफा कमा सकते हैं. इसलिए अपनी मैन्युफैक्चरिंग फर्म को प्राइवेट लिमिटेड में रजिस्टर जरुर करा लें.

कैसे करें बिज़नस फंड का अरेंजमेंट

भारत सरकार अधिक से अधिक लोगों अपना बिज़नस शुरू करने के लिए लोन की सुविधा प्रदान कर रही हैं. अगर आप भी पेपर प्लेट मैन्युफैक्चरिंग के उपक्रम को शुरू करने के लिए वित्तीय सहायता कहते हैं तो आपको मुद्रा लोन के तहत आसानी से बैंक लोन की सुविधा उपलब्ध करा सकते हैं. पपेर प्लेट मैन्युफैक्चरिंग बिज़नस को शुरू करने हेतु आपको 10,00,000 का टर्म लोन व 15,00,000 का कैपिटल लोन मिल सकता हैं.

यह भी पढ़े : 

एग्रो इंडस्ट्री : कैसे लगाये टोमेटो सॉस की मैन्युफैक्चरिंग यूनिट

मसाला उद्योग में है अच्छी कमाई का अवसर , जानें कैसे शुरू करें मसाले की यूनिट

कम पूंजी से शुरू हो सकता है अगरबत्ती (Agarbatti) का उद्योग , होगी मोटी कमाई

कैसे शुरू करें फैक्ट्री :

फैक्ट्री सेट अप करने के बाद सबसे क्रूशियल काम आता हैं अपने लिए सही स्टाफ का चयन करना. पेपर प्लेट (Paper Plate ) बनाने का अधिकतर काम तो मशीन द्वारा ही होता हैं लेकिन उन मशीनरी को चले के लिए स्किल्ड व्यक्ति की नियुक्ति आवश्यक हैं. साथ ही एक अन स्किल्ड लेबर की भी जरूरत होगी.

कच्चा माल :

पेपर प्लेट्स (Paper Plate ) बनाने के लिए आवश्यक कच्चा माल लेने में लगभग 4,00,000 प्रति माह तक की लागत आ सकती हैं. ये रकम आपके कच्चे माल की क्वालिटी पर निर्भर करती हैं. अच्छी क्वालिटी के कच्चे माल के लिए आपको रेपुटेड बिज़नस फिर्म्स से संपर्क साधना होगा. आपका बिज़नस नया ही सेट अप हैं इसलिए जितना उम्दा व आसानी से उपलब्ध कच्चा माल आपको मिलेगा आपके  उत्पाद की क्वालिटी भी उतनी अच्छी होगी.

पपेर प्लेट मैन्युफैक्चरिंग प्रोसेस

पेपर प्लेट बनाने का प्रोसेस बहुत मुश्किल नहीं हैं. पेपर प्लेट बनाने की मशीन में कागज व पन्नी की परत को एक साथ डाला जाता हैं. जिसे मशीन एक आकर में इस तरह से काटती जाते हैं कि कागज व पोल्य्थीन (पन्नी) एक दुसरे से चिपक जाती हैं. रेगुलर प्लेट मैन्युफैक्चरिंग  क्षमता दो शिफ्टों में काम करने पर 30,000 से 40,000  प्रतिदिन की हो सकती हैं.

पेपर प्लेट बनाने के लिए आपको इस प्रकार की मशीनरी की आवश्यकता होगी , ये फुल आटोमेटिक मशीन हैं. 

 

मार्केटिंग

अपने बिज़नस व मुनाफे को बढाने के लिए उसकी मार्केटिंग ठीक तरह से करना बहुत आवश्यक हैं. जितना अधिक आप अपने बिज़नस व प्रोडक्ट की क्वालिटी के विषय में लोगों को बतायेंगे उतने अधिक लोग आपके उत्पाद की ओर आकर्षित होंगे. इसके लिए आपको कम मुनाफे पर भी अपना माल बेचना पड सकता हैं. लेकिन ये हमेशा याद रखें कि मुनाफा कम हो तो चलेगा लेकिन अगर ना हो तो आपको अपना बिज़नस चलाने में असुविधा होगी. अपने उत्पादों को अच्छी हाइप देने के लिए उनकी क्वालिटी का ऊँचे मापदंडो पर चेक किया जाना आवश्यक हैं. साथ ही आपको अपने बिज़नस को सेट करने के लिए अपने ग्राहकों को पेमेंट करने की अवधि में कुछ एक्स्ट्रा हफ्ते भी जोड़ने पड सकते हैं .

पेपर प्लेट (Paper Plate) मैन्युफैक्चरिंग बिज़नस की चुनोतियाँ

किसी भी बिज़नस को जमाने की राह आसान नहीं होती. कुछ चुनोतोयाँ हमेशा सफलता की राह में समय समय पर रोड़े अटकाती रहती हैं. पेपर प्लेट मैन्युफैक्चरिंग मे भी ऐसी कुछ चुनोतियाँ हैं. जिनमे से एक हैं कागज का पेड़ो से प्राप्त होना. पेड़  बचाने की मुहीम में लगे लोग  पेपर प्लेट्स (Paper Plate ) का इस्तमाल न करने के पीछे ये ही तर्क देते हैं. साथ ही कच्चा माल पानी बिजली आदि सुविधाओं का एक साथ मिलना भी आसान नहीं हैं. पेपर प्लेट मैन्युफैक्चरिंग यूनिट में एनर्जी व फ्यूल का अधिक इस्तमाल होता हैं जोकि शुरुआती समय में काफी खर्चीला लग सकता हैं, लेकिन मुनाफा होने के बाद ये सब मैनेज हिना भी शुरू हो जाता हैं.

 


Comments

comments

loading...

- Apply This Job

Your Name (required)

Your Email (required)

Upload Resume (3mb max)

Your Message