छोटे शहर में फ़ूड बिज़नेस में आपके आपके करियर के लिए छुपी है अपार संभावनाएं .

एक कहावत बड़ी प्रचलित है कि आदमी कुछ भी छोड़ सकता है पर खाना नहीं छोड़ सकता , तो फ़ूड बिज़नेस हमेशा एक फायदे का सौदा रहता है . स्टार्टअप के नए युग में खाने पीने की वस्तुओं का व्यवसाय एक अच्छा आप्शन है .

किसी भी इंटरप्रेन्योर के लिए अपने स्टार्ट अप के लिए सबसे बेहतर जगह मेट्रो सिटी लगती हैं. अपने छोटे शहर (small city) को छोड़कर मेट्रो सिटी में बसना और अपना बिज़नस स्टार्ट करना बहुत चेलेंजिंग होता हैं. इस रिस्क को उठाने के पीछे ये धारणा हैं कि छोटे शहरों (small city)  में स्टार्ट अप का स्कोप नहीं हैं. पहले के समय में ये बात शायद सही होगी लेकिन आज के संधर्भ में ये बात सहीं नहीं कही जा सकती. अगर देखा जाये तो छोटे शहरों में स्टार्ट अप का रिस्क बड़े शहरों  के मुकाबले कम हैं. ऐसा होने का मुख्य कारण ये हैं कि  छोटे शहरों (small city) में निवेश उतना नहीं होता जितना बड़े शहरों में होता है .

छोटे शहरों (small city)  में खूब चलने वाला बिज़नस फ़ास्ट फ़ूड व फ़ूड से जुड़ा हुआ हैं. अगर आप के हाथों में अच्छा खाना बनाने का हुनर हैं तो आप छोटे शहर (small city)  में रहकर आप अच्छी कमाई कर सकते हैं. आज इसी से जुड़े बिज़नस के विषय में हम आपको बतायेंगे.

फ़ूड बिज़नेस से जुड़े कुछ आइडियाज जिन्हें आप अपना सकते है

फ़ूड स्टैंड :

आप अपने शहर में बहुत कम निवेश के साथ फ़ूड स्टैंड का बिज़नस शुरू कर सकते हैं. आप किसी इंडस्ट्रियल एरिया जहाँ लेबर अधिक आती हो वहां घर जैसा बना खाना अपने फ़ूड स्टैंड पर अगर बेचे तो आपको फायदा तो होगा ही साथ ही आपकी लोकप्रियता भी बढ़ेगी. अगर आपके शर में ऐसा कोई एरिया हैं जहाँ शाम के समय लोग घुमने आते हो तो वहां भी आप अपना फ़ूड स्टैंड लगा सकते हैं. अगर आप खुद इस काम को नहीं करना चाहते तो किसी व्यक्ति को जिसे इस काम का अनुभव हो उसे अपने लिए hire भी कर सकते हैं.

फ़ूड डिलीवरी सर्विस :

आजकल अधिकतर लोग अपने शहर व परिवार से दूर किसी दुसरे शहर में आकर बस रहे हैं. ऐसा करने के पीछे इनका कारण कभी जॉब होती हैं कभी पढाई. ऐसे लोगों के लिए फ़ूड डिलीवरी सर्विस बहुत काम की चीज होती हैं. फ़ूड डिलीवरी सर्विस शुरू करने के लिए आप अपने घर की रसोई में टिफिन बना कर लोगों के घर व हॉस्टल तक पहुंचा सकते हैं. इस बिज़नस को शुरू करने में बहुत ज्यादा लागत नहीं लगती, और अगर आप स्वादिष्ट खाना लोगों तक पहुंचा सकते हैं तो आपको मुनाफा मिलना तय हैं.

रेस्टोरेंट बिज़नस :

छोटे शहरों (small city)  में रेस्टोरेंट का बिज़नस भी अच्छी कमाई करा सकता हैं. आप किसी छोटी जगह को आकर्षक लुक देकर रेस्टोरेंट में बदल सकते हैं. बड़े शहरों  के मुकाबलें छोटे शहरों में आपको जगह आसानी से व सस्ते दामों पर मिल जायेगी. साथ ही छोटे शहरों में सैलरी के रूप में दी जाने वाली मदें व सब्जी आदि कच्चा माल भी सस्ते दामों में मिल जाता हैं.

रेस्टोरेंट चैन :

किसी जाने माने फ़ूड आउटलेट की फ्रैंचाइज़ी भी छोटे शहरों में खूब चलती हैं. लेकिन इसके लिए आपको फ्रैंचाइज़ी की शर्तों को पूरा करने के साथ साथ सिक्यूरिटी के रूप में भी कुछ धन राशि को जमा केरना होता हैं. छोटे शहर (small city)  के लोग जाने माने नाम के रेस्टोरेंट जैसे पिज़्ज़ा हट आदि को काफी पसंद करते हैं.

फार्मिंग :

यहाँ फार्मिंग से अगर आप किसानी समझ रहे हैं तो आप बिल्कुल सही हैं. अगर किसी छोटे शहर (small city)  या गाँव में आप रहते हैं और आपके पास अच्छी खासी जमीन हैं तो खेती भी घाटे का सौदा नहीं हैं. बल्कि आर्गेनिक खेती की डिमांड तो आजकल काफी हैं.अपनी खाली जमीन को उपजाऊ बना कर सब्जियों की खेती करना भी फायदें का सौदा बन सकता हैं.

 

26 वर्षीय Uppma का सफ़र “chai walli’ से Business Women of the year तक


Comments

comments

loading...

- Apply This Job

Your Name (required)

Your Email (required)

Upload Resume (3mb max)

Your Message